भदोही : कालीन उद्योग कोरोना काल में भी अपना मुकाम हासिल किया: उमेश

By प्रभुनाथ शुक्ल

Published on:

Bhadohi-Carpet-industry-achieved-its-position-even-during-the-Corona-period

सभी के समर्पण से कोई भी संस्थान हासिल करता है अपनी सफलता

भदोही के कालीन उद्योग ने दुनिया में बनाई है अपनी नयी पहचान

भदोही। 18 सितंबर। शब्दरंग न्यूज़ डेस्क

ईमानदारी,सच्ची लगन और कठिन परिश्रम किसी किसी व्यक्ति और संस्थान को उच्च शिखर पर ले जाता है। लेकिन यह तभी सम्भव है जब सम्बन्धित संस्थान और मलिक एक साथ मिलकर काम करें।आपस मे मधुर सम्बन्ध व संस्थान के प्रति समर्पण होता है। भदोही स्थित कालीन कम्पनी इण्डियन आर्ट गैलरी के स्थापना के पचीस वर्ष पूरे होने पर सायंकाल आयोजित रंगा रंग कार्यक्रम के मुख्य अतिथि ज्वाइन्ट कमिश्नर इन्डस्ट्री उमेश कुमार सिंह ने कही

उन्होंने कहा कि विश्व मे आर्थिक मंदी व कोरोना महामारी के कारण पूरे विश्व मे संकट के बादल छाये हुए है। यहां का कालीन उद्योग भी संकट से गुजर रहा है।लेकिन जिन लोगों ने इस स्थित मे भी अपने कालीन यूनिट को शिखर तक ले गये वह तारीफ के काबिल है।यूनिट के पार्टनर सुहैल अकबर व शादाब अकबर की उन्होने ख़ूब प्रशंसा की कार्यक्रम मे मौजूद सैकङो यूनिट के सदस्यो का ज़ोश भरते हुए उन्होंने कहाकि कालीन यूनिट मे हर व्यक्ति अपनें कर्तब्यो के प्रति जवाबदेह एंव ईमानदारी से कङी मेहनत करता रहेगा तो उसको सफलता मिलती रहेंगी इसमें ज़रा सी भी लापरवाही पतन का कारण बन जातीं है। कालीन उद्योग में अक्सर देखा गया है शिखर से लोगो को नीचे आते हुए इसका हमेशा सभी को ध्यान रखना होगा।

Bhadohi-Carpet-industry-achieved

यूनिट के पार्टनर सुहैल अकबर व शादाब अकबर ने अपने कम्पनी के सिल्वर जुबली प्रोग्राम के मुख्य अतिथि ज्वाइन्ट कमिश्नर इन्डस्ट्री वाराणसी एवं विद्यांचल डिविज़न उमेश कुमार सिंह व डिप्टी कमिश्नर इन्डस्ट्री हरेन्द्र प्रताप यादव को गुलदस्ता भेंट कर स्वागत किया ।
कम्पनी के पचीस वर्ष पूरे होंने पर स्टाफ़ के लोगो द्वारा एक से बढ़कर एक रंगा रंग कार्यक्रम पेश किया गया ।जिसका उपस्थित लोगों ने खूब आनन्द लिया।अन्त मे हाजी सईद अकबर ने कार्यक्रम मे उपस्थित सभी लोगों का धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन मुशीर इक़बाल ने किया।

इस मौके पर परिवार के प्रमुख सदस्य जुबैदा सईद, नाहिद सुहैल,तबस्सुम अंसारी,अरमान सुहैल,अयान सुहैल,अनम सुहैल, अशाज़ अंसारी की गरिमा मयी उपस्थिति रही।रंगा कार्यक्रम को सफल बनाने में इसरार अहमद,रोहन सेठ, शाह आलम,व तौफीक का विशेष योगदान रहा।
कार्यक्रम में शारिक परवेज़,फखरे आलम,आरिफ अंसारी, नौशाद अंसारी,महफ़ूज आलम, शाह आलम,अफताब अंसारी,अदहम अंसारी, वासिफ अंसारी,परवेज़ अंसारी,जावेद अंसारी,सगीर एजाज़ सहित सैकङो लोग मौजूद रहे।

प्रभुनाथ शुक्ल

लेखक वरिष्ठ पत्रकार, कवि और स्वतंत्र टिप्पणीकार हैं। आपके लेख देश के विभिन्न समाचार पत्रों में प्रकाशित होते हैं। हिंदुस्तान, जनसंदेश टाइम्स और स्वतंत्र भारत अख़बार में बतौर ब्यूरो कार्यानुभव।

Leave a Comment