स्कूल के बाहर कोरोना गाइडलाइन का पालन, भीतर शर्तों की अनदेखी

By shabdrang

Updated on:

Corona guidelines followed outside the school, ignoring the conditions inside

अम्बेडकरनगर। शब्दरंग न्यूज़ डेस्क

कोरोना का कहर कम होने के बाद शर्तों के साथ स्कूल खोल दिए गए हैं। महीनों बाद खुले स्कूलों में छात्रों की संख्या धीरे-धीरे बढ़ रही है। गुरुवार को दूसरे दिन कक्षा एक से पांच तक के प्राथमिक विद्यालयों में छात्र संख्या बढ़ गई। करीब सभी विद्यालयों में पंजीकृत कुल छात्रों की संख्या के अनुपात में 70 फीसदी बच्चे उपस्थित हुए।

विडम्बना यह है कि स्कूल शर्तों के साथ खोले गए हैं, लेकिन विद्यालयों में किसी भी शर्त का पालन नहीं हो रहा है। गुरुवार को दूसरे दिन खुले विद्यालयों में गेट तक तो कोरोना गाइडलाइन का पालन किया गया, लेकिन अंदर शर्तों के अनदेखी की गई और गाइडलाइन का पूरी तरह से माखौल उड़ाया गया। स्कूल खोलने की शर्तों के अनुसार शिक्षक और छात्र सभी को सोशल डिस्टेंसिग का पालन करना होगा। सभी का छात्राओं के साथ शिक्षकों व स्टॉप को मास्क पहनना होगा। शिक्षक और छात्र हाथ धोकर तथा सेनेटाइज करके ही विद्यालय में प्रवेश करेंगे। विद्यालयों की कक्षा में छात्र छात्रों के बीच कम से कम छह फीट की दूरी पर बैठने की व्यवस्था करने का आदेश है। लेकिन इसका किसी भी विद्यालय में पालन नहीं हो रहा है।

shabdrang

शब्दरंग एक समाचार पोर्टल है जो भारत और विश्व समाचारों की कवरेज में सच्चाई, प्रामाणिकता और तर्क देने के लिए समर्पित है। हमारा उद्देश्य शिक्षा, मनोरंजन, ऑटोमोबाइल, प्रौद्योगिकी, व्यवसाय, कला, संस्कृति और साहित्य सहित वर्तमान मामलों पर एक व्यापक परिप्रेक्ष्य प्रदान करना है। ज्ञानवर्धक और आकर्षक सामग्री के माध्यम से दुनिया के विविध रंगों की खोज में हमारे साथ जुड़ें।

Leave a Comment