उप्र : भदोही पुलिस अधीक्षक ने रिश्वत मांगने पर प्रधान लिपिक को निलंबित किया

By प्रभुनाथ शुक्ल

Published on:

suspended for demanding bribe

सेवानिवृत्त उपनिरीक्षक की फाइल तैयार करने के लिए रिश्वत मांग रहा था

पुलिस अधीक्षक ने सम्बंधित प्रकरण की जांच क्षेत्राधिकारी भदोही को सौंप

Bhadohi-Samachar-Shabdrang.com_

भदोही,15 अक्टूबर । शब्दरंग न्यूज डेस्क

उत्तर प्रदेश के भदोही जनपद के पुलिस अधीक्षक डॉ. अनिल कुमार ने भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने कसते हुए प्रधान लिपिक को निलंबित कर दिया। आरोपित प्रधान लिपिक सेवानिवृत्त उपनिरीक्षक की फाइल तैयार करने के लिए रिश्वत मांग रहा था। भदोही क्षेत्राधिकारी को इस मामले की जांच सौंपी गई है। सम्बंधित लिपिक की लम्बे समय से शिकायत मिल रहीं थी।

दशहरा बुराई पर अच्छाई की जीत का पर्व है। पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार ने इस मंत्र पर अमल करते हुए दशहरे के ही दिन अपने कार्यालय के प्रधान लिपिक के खिलाफ कार्रवाई की है। पुलिस कार्यालय से जारी सूचना में बताया गया है कि प्रधान लिपिक को निलंबित करने के बाद मामले की जांच भदोही क्षेत्र अधिकारी अजय कुमार को सौंपी गई है।

सेवानिवृत्त उपनिरीक्षक विनय प्रकाश सिंह के सेवा प्रपत्र तैयार करने के लिए प्रधान लिपिक शंभू यादव रिश्वत मांग रहा था। विनय सिंह को सेवानिवृत्त हुए कई माह बीत चुके थे। वह प्रपत्र तैयार करने के लिए बार-बार पुलिस कार्यालय का चक्कर लगा रहे थे, लेकिन आरोपित प्रधान लिपिक रिश्वत की मांग कर रहा था। आरोपित लिपिक पर चार हजार की रिश्वत मांग रहा था जिसका भुगतान न कर पाने की वजह से सेवानिवृत्त उप निरीक्षक की फाइल लंबित पड़ी थी।

यह मामला जब भदोही पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार के संज्ञान में पहुंचा तो उन्होंने तत्काल कार्रवाई करते हुए प्रधान लिपिक को निलंबित कर दिया। इस पूरे प्रकरण की जांच भदोही क्षेत्र अधिकारी अजय कुमार को सौंप दी गई है। दशहरे के दिन पुलिस अधीक्षक की तरफ से की गई इस कार्रवाई से भ्रष्ट और घूसखोर कर्मचारियों में दहशत है।

प्रभुनाथ शुक्ल

लेखक वरिष्ठ पत्रकार, कवि और स्वतंत्र टिप्पणीकार हैं। आपके लेख देश के विभिन्न समाचार पत्रों में प्रकाशित होते हैं। हिंदुस्तान, जनसंदेश टाइम्स और स्वतंत्र भारत अख़बार में बतौर ब्यूरो कार्यानुभव।

Leave a Comment