सोशल मीडिया स्टार सूबेदार भागवत प्रसाद पांडे की फिर बढ़ी मुश्किलें

By shabdrang

Updated on:

Subedar Bhagwat Pandey

सोशल मीडिया पर चुलबुल पांडे के नाम से प्रसिद्ध

सीधी। जिले में पदस्थ सोशल मीडिया स्टार सूबेदार भागवत प्रसाद पांडे की मुश्किलें फिर बढ़ गई है। जिला न्यायालय से अग्रिम जमानत खारिज होने के बाद सूबेदार राहत कि आस में फिलहाल फरार है। बता दे की सीधी जिले समेत सोशल मीडिया के मार्फत देश भर में चर्चित सूबेदार भागवत प्रसाद पांडे की मुश्किलें लगातार बढ़ती ही जा रही है। एक महिला द्वारा लगाए गए आरोप और केश उनके गले की फास बन गई है और सूबेदार फिर फरार हो गए हैं। सोशल मीडिया पर लोगों को ज्ञान का पाठ पढ़ाने वाले कुछ इस तरह अज्ञानी हुए की बात वर्दी छिनने और जेल जाने तक पहुंच गई है।

सूबेदार भागवत प्रसाद पांडे

एक महिला द्वारा कई गंभीर आरोप लगाए गए

गौरतलब है कि सूबेदार भागवत प्रसाद पांडे पर एक महिला द्वारा कई गंभीर आरोप लगाए गए थे लेकिन पुलिस विभाग में पदस्थ होने और वरिष्ठ अधिकारियों की कृपा पात्रता के चलते लंबे समय तक मामला प्रकाश में ही नहीं आया और अंततः सीधी कोतवाली में श्री पांडे के विरुद्ध 12 फरवरी 2023 को शिकायत दर्ज कराई गई। जिस पर थाना कोतवाली सीधी ने अपराध क्रमांक 378 /2023 धारा 376 ( 2 ) एवं (ठ्ठ) 506 आईपीसी के तहत मामला पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया तो भागवत अधिकारियों कि कृपा कहे या कुछ और इतने गंभीर आरोप के बाद भी जेल जाने से बचे रहे और माननीय उच्च न्यायालय की शरण में एक याचिका दायर की थी।

जिसका याचिका क्रमांक 10662 /2023 था और वापस आकर नौकरी करने लगे थे। लेकिन इस मामले की सुनवाई गंभीरता से न्यायाधिपत श्री संजय द्विवेदी जी के द्वारा की जाकर 28.11.2023 को याचिका निरस्त कर दी गई इसके बाद अभियुक्त भागवत पांडे के द्वारा अग्रिम जमानत आवेदन जिला एवं सत्र न्यायालय सीधी के विद्वान न्यायाधीश श्री संजीव पांडे के यहां अपने अधिवक्ता के माध्यम से पेश की गई जिस पर सुनवाई करते हुए जिला एवं सत्र न्यायाधीश के द्वारा मामले को गंभीरता से लेते हुए 5 दिसंबर 2023 को उसे भी निरस्त कर दिया है।

जिसके बाद से आरोपी भगवत प्रसाद पांडे कि मुश्किल बढ़ती हुई नजर आ रही है माननीय उच्च न्यायालय जबलपुर एवं जिला एवं सत्र न्यायाधीश के यहां से अग्रिम जमानत आवेदन निरस्त होने के बाद पुलिस आरोपी की तलाश में जुट गई है। और देखना होगा कि अपनी ईमानदारी और मुस्तैदी के लिए प्रसिद्ध सीधी पुलिस उन्हें गिरफ्तार करती है या फिर ढूढने का दिखावा करती है। हालांकि अगर गंभीरता से पुलिस अधीक्षक इस पर संज्ञान लेगे और अन्य आरोपियों कि तरह इनकी गिरफ्तारी पर भी सक्रिय होगे तो भागवत जरूर मिल जाऐंगे….?

यह भी पढ़े : Ayodhya Airport : राम नगरी अयोध्या के एयरपोर्ट की टिकट बुकिंग के लिए कोड जारी

shabdrang

शब्दरंग एक समाचार पोर्टल है जो भारत और विश्व समाचारों की कवरेज में सच्चाई, प्रामाणिकता और तर्क देने के लिए समर्पित है। हमारा उद्देश्य शिक्षा, मनोरंजन, ऑटोमोबाइल, प्रौद्योगिकी, व्यवसाय, कला, संस्कृति और साहित्य सहित वर्तमान मामलों पर एक व्यापक परिप्रेक्ष्य प्रदान करना है। ज्ञानवर्धक और आकर्षक सामग्री के माध्यम से दुनिया के विविध रंगों की खोज में हमारे साथ जुड़ें।

Leave a Comment