भदोही : यूपी फेल है विकास का दावा, महाराष्ट्र में अभद्र टिप्पणी पर जेल है: नीतिन राऊत

By प्रभुनाथ शुक्ल

Published on:

यूपी फेल है विकास का दावा, महाराष्ट्र में अभद्र टिप्पणी पर जेल है- नीतिन राऊत

यूपी के मुख्यमन्त्री योगी सिर्फ विकास की बड़ी-बड़ी बातें करते हैं

योगी के सरकार में दलितों, अल्पसंख्यको और ब्राह्मणों पर बढ़ा अत्याचार

Bhadohi-Samachar-Shabdrang.com_

भदोही, 26 अगस्त। शब्दरंग न्यूज़ डेस्क

महाराष्ट्र के ऊर्जामन्त्री एवं कांग्रेस पार्टी में अनुसूचित जाति एवं जनजाति के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतिन राऊत ने योगी सरकार पर गुरुवार को आरोप लगाते जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा उत्तर प्रदेश मे कोई विकास नहीं हुआ है। मुख्यमन्त्री योगी सिर्फ विकास की बड़ी-बड़ी बातें करते हैं। भदोही में एक निजी कर्यक्रम में शिराकत के दौरान उन्होंने यह बात कहीं।

नीतिन राऊत ने कहा वाराणसी से भदोही आते हुए सब कुछ देखने को मिला। विकास का दावा तारतार होता दिखा। सड़के गड्ढों में तब्दील हैं और उसमें पानी डूबा है।हर जगह गंदगी की भरभार है । योगी का विकास का दावा सिर्फ झूठ का एक पुलिन्दा है। यहां पर विकास कुछ नहीं हुआ है। कालीन नगरी की टूटी सड़कों और गंदगी को देकर बङा दु:ख हुआ। जिस भदोही का नाम पूरे विश्व में कालीन से प्रसिद्ध है। जहां दुनिया के लोग आते हों वहाँ की हालत दयनीय स्थिति को देखकर मै निराश हूँ।

यूपी के मुख्यमन्त्री योगी सिर्फ विकास की बड़ी बड़ी बातें करते हैं

योगी के शासन में दलितों अल्पसंख्यको और ब्राह्मणों पर अत्याचार बढा है। उत्तर प्रदेश में विकास और आमजन में खुशहाली सिर्फ कांग्रेस ही ला सकती है। उन्होंने कहा महाराष्ट्र मेंकांग्रेस गठबन्धन की सरकार बहुत अच्छा काम कर रही है वहां कानून का राज है। वहां पर कोई भी कितना बड़ा मन्त्री हो संविधान और कानून से ऊपर नहीं है। देश के नेताओं के खिलाफ अशोभनीय टिप्पणी करने वालो की जगह जेल ही है। मुख्यमन्त्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व मे गठबन्धन की सरकार सभी का विकास कर रही है।

नीतिन राऊत कांगेस नेता वीरेन्द्र राय की माता के तेरहवीं कार्यक्रम मे शामिल होने के लिए भदोही आये थे। उनके साथ भगौती चौधरी, तनु पुनिया,परमिन्दर सिंह साथ रहे। बाबत ऐयरपोर्ट से भदोही आते समय चौरी बाजार मे जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अब्दुल माबूद खां के नेतृत्व में सभी का स्वागत किया गया।

प्रभुनाथ शुक्ल

लेखक वरिष्ठ पत्रकार, कवि और स्वतंत्र टिप्पणीकार हैं। आपके लेख देश के विभिन्न समाचार पत्रों में प्रकाशित होते हैं। हिंदुस्तान, जनसंदेश टाइम्स और स्वतंत्र भारत अख़बार में बतौर ब्यूरो कार्यानुभव।

Leave a Comment