यूपी : ट्रकों से डीजल चुराने वाले छह लोग तमंचे के साथ गिरफ्तार

By प्रभुनाथ शुक्ल

Published on:

मध्यप्रदेश के पांच लोग बाकि एक भदोही के गोपीगंज का निवासी

एक ट्रक, डीजल और भारी मात्रा में चोरी में इस्तेमाल होने वाले सामान बरामद

भदोही, 14 अक्टूबर। शब्दरंग न्यूज डेस्क

उत्तर प्रदेश के भदोही जनपद में राष्ट्रीय राजमार्ग पर खड़े ट्रकों से डीजल निकालने वाला गैंग पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पुलिस ने गिरफ्तार 6 लोगों के पास से एक तमंचा के साथ दो जिंदा कारतूस और डीजल चोरी के लिए इस्तेमाल की जाने वाली एक ट्रक के साथ 100 लीटर डीजल भी बरामद किया है।

क्षेत्राधिकारी ने पत्रकारों से बात करते हुए बताया कि राष्ट्रीय राजमार्ग पर डीजल चुराने वाले 6 आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार इनके पास से 100 लीटर डीजल और चुराने में इस्तेमाल होने वाली संबंधित सामग्री बरामद की गई। इसमें लोहे के राड,प्लास्टिक की जरकिन, प्लास्टिक की पाइप भी शामिल है।

वाराणसी-प्रयागराज के मध्य रात में राष्ट्रीय राजमार्ग पर खड़ी ट्रकों से डीजल चोरी आम बात है। चालक ढाबों या अपनी सुविधा के अनुसार अन्यत्र ट्रक खड़ी कर भोजन पानी बनाते के साथ आराम भी करते हैं। इसी का बेजा लाभ उठाकर रात में डीजल चोरी से जुड़े लोग ट्रकों से डीजल निकालकर काले बाजार में बेचते हैं। इस गैंग से जुड़े लोगों के लिए यह धंधा अच्छा कमाई का जरिया है। हर माह लाखों रुपए की डीजल चोरी होती थीं। लेकिन पुलिस यह सब जानते हुए भी चुप थीं। लेकिन नए कप्तान डॉक्टर अनिल कुमार के आने के बाद पुलिस को अंततः इस पर लगाम लगाना पड़ा है।

पुलिस ने जिन लोगों को गिरफ्तार किया है उसमें मुन्ना बेहना गोपीगंज,भदोही, विजय चौहान, निसार खाँ चिमनगंज, हनीफ खाँ थाना महाकाल, उज्जैन।दीपू बाग़री, जाफर खाँ, घंटाघर मंदसौर। गिरफ्तार किए गए लोगों में सिर्फ एक व्यक्ति भदोही का है जबकि सभी मध्य प्रदेश के निवासी हैं। पुलिस ने इनके पास से ₹4000 की नकदी भी बरामद की है। डीजल चुराने के लिए गिरोह के लोग चुराए हुए ट्रक का इस्तेमाल करते थे। भदोही पुलिस के लिए यह बड़ी सफलता है क्योंकि ट्रक चालकों के लिए डीजल चोर गिरोह नाक में दम कर दिया था। पुलिस लिखा पढ़ी के बाद आरोपियों को जेल भेजेगी।

प्रभुनाथ शुक्ल

लेखक वरिष्ठ पत्रकार, कवि और स्वतंत्र टिप्पणीकार हैं। आपके लेख देश के विभिन्न समाचार पत्रों में प्रकाशित होते हैं। हिंदुस्तान, जनसंदेश टाइम्स और स्वतंत्र भारत अख़बार में बतौर ब्यूरो कार्यानुभव।

Leave a Comment